मुख्यमंत्री शिवराज का बड़ा ऐलान, सभी सरपंच-पंच महिलाएं चुनी गईं तो पंचायत को 15 लाख का प्रोत्साहन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्विरोध चुनाव कराने के लिए ग्रामीणों को प्रोत्साहित करने 5 लाख से 15 लाख तक की राशि देने का ऐलान किया है। किसी भी पंचायत में सरपंच का निर्विरोध निर्वाचन …

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्विरोध चुनाव कराने के लिए ग्रामीणों को प्रोत्साहित करने पांच लाख से 15 लाख तक की राशि देने का ऐलान किया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्विरोध चुनाव कराने के लिए ग्रामीणों को प्रोत्साहित करने 5 लाख से 15 लाख तक की राशि देने का ऐलान किया है। किसी भी पंचायत में सरपंच का निर्विरोध निर्वाचन होता है तो पांच लाख और सरपंच व पंच के सभी पदों पर महिलाओं को निर्वाचित किया जाता है तो 15 लाख की राशि मिलेगी।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पंचायतों में निर्विरोध निर्वाचन को प्रोत्साहन देने का फैसला किया है। इसके तहत निर्विरोध निर्वाचन पर समरस पंचायत का ऐलान पहले ही घोषित किया जा चुका है और अब इन समरस पंचायतों को अलग-अलग श्रेणी में प्रोत्साहन राशि देने का फैसला किया है।

प्रोत्साहन राशि की श्रेणी

  1. किसी भी पंचायत में सरपंच का निर्वाचन अगर निर्विरोध रूप से किया जाता है तो पंचायत को 5 लाख रुपये।
  2. सरपंच पद हेतु वर्तमान निर्वाचन एवं पिछला निर्वाचन निरंतर निर्विरोध रूप से होने पर पंचायत को 7 लाख रुपये।
  3. पूरी पंचायत अर्थात समस्त पंच और सरपंच निर्विरोध निर्वाचित होते है तो पंचायत को प्रोत्साहन स्वरूप 7 लाख रुपये।
  4. पंचायत में सरपंच एवं पंच के सभी पदों पर महिलाओं का निर्वाचन होता है तो पंचायत को 12 लाख रुपये।
  5. पंचायत में सरपंच एवं पंच के सभी पदों पर महिलाओं का निर्वाचन निर्विरोध रूप से होने पर पंचायत को 15 लाख रुपये।

चार श्रेणियों में दिए जाएंगे पुरस्कार

  1. आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर पंचायत का पुरस्कार
  2. जल परिपूर्ण पंचायत का पुरस्कार
  3. स्वच्छ, स्वस्थ एवं हरित पंचायत का पुरस्कार
  4. महिला एवं बाल हितैषी पंचायत का पुरस्कार

प्रत्येक वर्ग के लिए तीन पुरस्कार

  • प्रथम पुरस्कार – 50 लाख रुपये
  • द्वितीय पुरस्कार – 25 लाख रुपये
  • तृतीय पुरस्कार – 15 लाख रुपये

महिला एवं बाल हितैषी पंचायत पुरस्कार

  • महिलाओं के आर्थिक और सामाजिक उन्नयन की गतिविधियों को प्रोत्साहन ।
  • बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए सभी संसाधनों से युक्त आँगनवाडियां
  • कुपोषण से मुक्ति
  • बेटियों और महिलाओं के कल्याण के लिए बनायीं गयी योजनाओं का लाभ दिलाना

इस वर्ग में पंचायतों को तीन पुरस्कार

  • प्रथम पुरस्कार – 50 लाख रुपये
  • द्वितीय पुरस्कार – 25 लाख रुपये
  • तृतीय पुरस्कार – 15 लाख रुपये

जल परिपूर्ण पंचायत पुरस्कार 

  • जल जीवन मिशन का अधिकतम उपयोग
  • जनभागीदारी से जल संरक्षण और संवर्द्धन
  • अमृत सरोवरों का निर्माण

इस वर्ग में पंचायतों को 3 पुरस्कार

  • प्रथम पुरस्कार – 50 लाख रुपये
  • द्वितीय पुरस्कार – 25 लाख रुपये
  • तृतीय पुरस्कार – 15 लाख रुपये

स्वच्छ, स्वस्थ एवं हरित पंचायत पुरस्कार

  • शतप्रतिशत घरों में शौचालय की उपलब्धता
  • ठोस और तरल अपशिष्ठ प्रबंधन हेतु संचालित योजनाओं का शतप्रतिशत् क्रियान्वयन।
  • पंचायतों को ऊर्जा के वैकल्पिक स्त्रोंतो का अधिकतम उपयोग
  • पर्यावरण को प्रदूषण से मुक्त करने के उपायों पर कार्य
  • टीकाकरण
  • नियमित स्वास्थ्य परीक्षण
  • बीमारियों की रोकथाम
  • नवजात शिशुओं की स्वास्थ्य संबंधी उपाय
  • आयुष्मान भारत योजना का लाभ हर पात्र व्यक्ति को

इस वर्ग में पंचायतों को 3 पुरस्कार

  • प्रथम पुरस्कार – 50 लाख रुपये
  • द्वितीय पुरस्कार – 25 लाख रुपये
  • तृतीय पुरस्कार – 15 लाख रुपये

आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर पंचायत पुरस्कार

  • नागरिकों को बेहतर सेवाएं प्रदान करने के लिये कराधान की मजबूत व्यवस्था
  • जन सहयोग और कर संग्रहण से ग्रामीणों को सुविधा और सेवा प्रदान करना।
  • स्व-सहायता समूहों का कौशल उन्नयन एवं बैंक लिंकेज
  • मनरेगा अंतर्गत स्थायी आजीविका
  • हर पात्र परिवार को आवास, राशन, गैस आदि की सुविधा

इस वर्ग में पंचायतों को 3 पुरस्कार

  • प्रथम पुरस्कार – 50 लाख रुपये
  • द्वितीय पुरस्कार – 25 लाख रुपये
  • तृतीय पुरस्कार – 15 लाख रुपये

Leave a Comment